कीजिए अपना वज़न नियंत्रण अब डॉक्सऐप के साथ

DocsApp
DocsApp

अपने वज़न को नियंत्रण में रखना, स्वस्थ जीवन की ओर पहला कदम है | वज़न नियंत्रण के लिए आपको अपने खान-पान के साथ व्यायाम पर भी बराबर का ध्यान देना होता है, ताकि आपका शरीर स्वस्थ रहे |

वज़न कम करना

वज़न कम होने के दो कारण हैं - या तो कुपोषण और या फिर जब आप खुद वज़न कम करने के लिए प्रयत्न कर रहे हों |

वजन बढ़ना

वज़न बढ़ना मतलब आपके शरीर का वज़न बढ़ना | यदि आपके शरीर में फैट (वसा) की मात्रा बहुत बढ़ जाए तो आप मोटापे का शिकार हो जाएगें | हमारे शरीर में फैट (वसा) की अधिक मात्रा बेहद हानिकारक है| बॉडी मास इंडैक्स (बी एम आई ) हमारी लम्बाई के हिसाब से हमारा वज़न कितना होना चाहिए यह बताता है |

व्यायाम का प्रभाव

व्यायाम आपकी वज़न नियंत्रण में मदद करता है | जब भी आप किसी प्रकार कि शारीरिक गतिविधि करते हैं, आप अपनी कैलोरी कम करते हैं | जितनी ज्यादा मेहनत उतनी ही ज्यादा कैलोरी कम होंगी | व्यायाम की मदद से आप एक स्वस्थ और कुशल जीवन जी सकते हैं |
व्यायाम अतिरिक्त वजन को अपने निश्चित अनुपात में बनाये रखने में मदद करता है | जब आप किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि में संलग्न होते हैं , तो आप कैलोरी जलाते हैं | यह आपको एक स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने में मदद करता है

आप क्या खा रहे हैं ?

आप जो भी खाते हैं उसमें पोषण छिपा होता है | हर व्यक्ति का खान-पान का तरीका और चुनाव अलग हो है | खाना खाने के बाद आपका शरीर खाने के ज़रूरी तत्व जैसे कि- विटामिन, मिनरल, प्रोटीन, फैट्स आदि को सोख लेता है, और आपको उसी ऊर्जा मिलती है | आप किस प्रकार का खाना खाते हैं , उसका आपकी ज़िन्दगी पर गहरा असर पड़ता है |

योग को आज़मा कर देखिए
योग भी व्यायाम की तरह वज़न नियंत्रण में सहायक है | बड़े बड़े योगियों के हिसाब से सूर्योदय से 2 घंटे पहले का समय योग के लिए सर्वोत्तम है | आप योग करने से पहले नहा भी सकते हैं | कोशिश कीजिए की बिना कुछ खाए पिए ही योग करें | यदि खाना खाने के नाद योग कर रहे हैं, तो खाना खाने के 3 घंटे बाद योग करें, अगर प्यास लगे तो आप पानी पी सकते हैं |

डायबिटीज और आपका वज़न
टाइप 2 डायबिटीज होने के अनेक कारण हैं जैसे कि - बढ़ती उम्र, गर्भावयस्था, तनाव , अनुवांशिक कारण, उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर , मोटापा आदि | लेकिन इन सभी कारणों में से सबसे आम है मोटापा | लगभग 90% डायबिटीज के मरीज़ मोटापे के शिकार हैं | ज़्यादा वज़न की वजह से हमारे शरीर में इन्सुलिन का नियंत्रण बिगड़ जाता है और इसी कारण डायबिटीज होती है |

बीपी और आपका वज़न
यदि आपका वज़न नियंत्रण में है तो आपको बीपी की बिमारी होने का खतरा कम है| मोटापे का मतलब है इन्सुलिन से छेड़छाड़ , जिसकी वजह से खून में शुगर का स्तर बढ़ जाता है |

पीसीओएस/पीसीओडी/थाइरोइड और आपका वज़न
थायरोइड और पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस ) महिलाओं में होने वाली दो सबसे ज्यादा आम बीमारियों में से हैं | यह आपके शरीर की प्रक्रिया को धीमा कर देता है, जिसके कारण वज़न बढ़ जाता है और फिर दूसरी परेशानियां शुरू हो जाती हैं |

आपके स्वास्थ्य के लिए हर वक़्त आपके साथ !